सांसद आदर्श ग्राम योजना से बदली नीमका गाँव की तस्वीर, लोगों के जीवन में आया सकारात्मक बदलाव

नीमका, समग्र विकास की एक गौरव यात्रा

आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की प्रेरणा से सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत नीमका गाँव को गोद लिया और इसके समग्र विकास के लिए वहाँ के लोगों के साथ मिलकर प्रमुख समस्याओं को चिन्हित किया एवं समग्र विकास के लक्ष्य तय किए गये| प्रमुख समस्याओं में गाँव की आंतरिक सड़कें, बिजली, शुद्ध पेयजल, खुले में शौच, जर्जर स्कूल और सूखा तालाब इत्यादि प्रमुख थे|

पहला कदम हमने स्वच्छता की ओर उठाया और स्वच्छ भारत मिशन के तहत 196 शौचालयों का निर्माण किया गया| यही नहीं स्वच्छता पर जागरूकता पैदा की गयी और लोगों को शौचालयों के प्रयोग के लिए प्रोत्साहित किया गया| आज गाँव की महिलाओं को सम्मान से जीने का मौका मिल रहा है, बच्चो को अच्छी आदतें व बुजुर्गों को शौच जाने में सुविधा हो रही है|

गाँव के अंदर सारी आंतरिक गलियों एवं नालियों इत्यादि का निर्माण किया गया| नीमका गाँव में अब कोई ऐसा रास्ता नहीं है जहाँ पक्की सड़क या खरंजा न बिछा हो। स्वच्छता की दृष्टि से पानी निकासी के लिए पक्की नालियाँ भी बनायी गयी जिससे जलभराव व इससे होने वाली बीमारियों एवं समस्याओं से छुटकारा मिला| इस बदलाव को लोग उनके स्वास्थ एवं क्वालिटी ऑफ लिविंग (Quality of living) के लिए बहुत अहम मानते है|

गाँव में बहुत से घर बिजली से वंचित थे क्योंकि कहीं पर बिजली के खंबे नही थे तो कहीं पर वो गिर चुके थे|हर घर तक बिजली पहुँचाने के लिए नये खंबे लगाए गये व मरम्मत की गयी| ग्रामीण विद्युतीकरण से नीमका गाँव के लोगों को मिट्टी के तेल, लैंप व लालटेन से छुटकारा मिला| इसके साथ ही वैकल्पिक उर्जा की व्यवस्था करते हुए गाँव में १०० सोलर लाइट्स भी लगाई गयी|

स्वच्छ पेयजल के लिए 200 किलो लीटर क्षमता की पानी की टंकी का निर्माण किया गया एवं पूरे गाँव में पाईप लाईन बिछाकर घर-घर तक पानी पहुँचाया गया|

प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना की मदद से नीमका गाँव में लगभग विलुप्त से हो गये तालाब का जीर्णोद्धार किया गया| इससे लोगों को, वहाँ के पशुधन को एवं सिचाई को सहूलियत मिली|

बच्चे हमारा भविष्य है और उनकी अच्छी शिक्षा, देश का भविष्य| इसको ध्यान में रखते हुए गाँव के प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय का नवीनीकरण किया गया| ग्राउंड में इंटरलॉकिंग टाइल्स, शौचालयों का निर्माण, कक्षाओ का नवीकरण एवं बैठने के लिए फर्निचर इत्यादि की व्यवस्था की गयी|

गाँव की बेटियों को जीवन कौशल की शिक्षा दी गयी | प्रॉजेक्ट “प्रोत्साहन चिरैया” नामक एक “मेगा ट्रैनिंग मॉड्यूल” लॉंच किया गया जिसके अंतर्गत किशोरियों को जीवन कौशल की शिक्षा दी गयी जिससे की वह भी शहर की लड़कियों की तरह आत्मविश्वासी बनें, आत्मनिर्भर बनें, अपने अधिकारों और कर्तव्यों का बेहतर ज्ञान हो, गाँव के विकास में अपनी भूमिका अदा कर सकें और सरकारी कार्यक्रमों की जानकारी होने से सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकें|

आदरणीय प्रधानमंत्री जी के सपनों को साकार करता हुआ आज नीमका गाँव एक आदर्श गाँव बनकर उभरा है| प्रधानमंत्री जी की दूरगामी सोच के सुखद परिणामों की एक झलक नीमका गाँव के समग्र विकास में भी झलकती है|

Leave a Reply