कच्छ का रण

पूर्ण चंद्रमा के प्रकाश में कच्छ के रण को निहारना आत्म सौंदर्य की उपासना करने वालों के लिए अत्यंत स्वर्गिक अनुभव सिद्ध होता है। गुजरात के कच्छ के रण का यह महोत्सव 1 नवंबर 2016 से प्रारंभ होकर 20 फरवरी 2017 तक चलेगा। पूरे चार महीने में आपके पास अपनी सुविधा के आधार पर पर्याप्त … Continue reading "कच्छ का रण"
Continue reading

भारत के समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का उत्सव है “गीता जयंती”

अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती समारोह के भव्य आयोजन के लिए मैं हरियाणा सरकार, प्रशासन और इस कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु अपना योगदान देने वाले सभी स्वयंसेवकों का ह्रदय से अभिनन्दन करता हूँ । दुनिया भर के विद्यालय, विश्वविद्यालय, प्रबंध संस्थान और कारपोरेट से जुड़े लोग जीवन में शांति, उन्नति और सफलता के लिए गीता के … Continue reading "भारत के समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का उत्सव है “गीता जयंती”"
Continue reading

अतिथि देवो भव: हमारी संस्कृति – हमारी पहचान

मेरा विश्वास है कि भविष्य में भारत के विकास में पर्यटन उद्योग की महत्वपूर्ण भूमिका होगी | दुनिया के विकसित या विकासशील देशों के मुकाबले भारत में पर्यटन उद्योग के विकास की अपार संभावनाएं है | हमारे सांस्कृतिक मूल्यों का ध्येय वाक्य है “वसुधैव कुटुम्बकम” | अतिथियों के लिए हमारा भाव वही होता है, जो … Continue reading "अतिथि देवो भव: हमारी संस्कृति – हमारी पहचान"
Continue reading